Chancellor

उपाधि हासिल करना ही शिक्षा का उद्देश्य नहीं बल्कि व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास करना, आत्मबल के साथ अनुशासन पैदा करना और चरित्र का निर्माण करना विद्यार्थी का मूल उद्देश्य होना चाहिए |

श्री कलराज मिश्र
माननीय कुलाधिपति महोदय
Vice-Chancellor

एक विचार लें और उस विचार को अपना जीवन बना लें, उसके बारें में सोचे, उसी के सपने देखें, अपने दिल एवं दिमाग को उसे पूरा करने में लगा दें और अन्य सभी विचारों का त्याग कर दें | यही सफलता का मूल मंत्र है |

प्रो. नीलिमा सिंह
कुलपति
 
Privacy Policy | Disclaimer | Terms of Use | Nodal Officer : Dr. O.P. Rishi
Last Updated on : 22/10/20
ssl